बाइक चलाना सीखे | Bike chalana sikhe

0
11
Bike Chalana Sikhe

Bike chalana sikhe | बाइक चलाना सीखे  :- बाइक चलाना लोगों में क्रेज़ बनता जा रहा है। सिर्फ लड़के ही नहीं लड़कियां भी आज फर्राटे-दार बाइक दौड़ा रही हैं।

आजकल के युवा कार से ज्यादा बाइक पसंद करते हैं और महंगी से महंगी बाइक लेने से नहीं कतराते हैं। बाजार में भी आजकल बहुत अच्छे-अच्छे बाइक्स उपलब्ध हैं। तो दोस्तों क्या आपके मन में भी कुछ कुछ होता है , बाइक्स को देखकर??

अगर आपका उत्तर हां है, और आप भी बाइक चलाना सीखना चाहते हैं , तो फिर अंत तक हमारे इस आर्टिकल Bike Chalana Sikhe को जरूर पढ़ें , जिससे आपको Bike Chalana Kaise Sikhe में बहुत मदद मिलेगी।


Bike chalana sikhe Or Bike Kaise Chalaye 

Bike Chalana Sikhe से पहले कुछ जरूरी बातें हैं , जिनको जानना बहुत जरूरी है।

1:- रखें सेफ्टी का ध्यान

बाइक चलाने से पहले सेफ्टी प्रोडक्ट जैसे हेलमेट, हैंड ग्लवश, जूते का इंतजाम कर ले और बाइक चलाते समय इसका यूज जरूर करें।

2:- लर्निंग लाइसेंस

अगर आप बाइक चलाना सीख रहे हैं , तो आपके पास लर्निंग लाइसेंस होना चाहिए। जब आप बाइक चलाना सीख जाएंगे , तो आप परमानेंट लाइसेंस के लिए अप्लाई करें।

3:- हल्की बाइक का चुनाव करें

जब भी आप बाइक चलना सीखना शुरू करे , हल्की बाइक का ही चुनाव करें। इसे संभालना आसान होता है। भारी बाइक संभालने में दिक्कत आती है। जब आप बाइक चलना सीख जाएं , तो आप अपनी पसंद की हेवी बाइक चलाने का लुफ्त उठाएं।

4:- ट्रैफिक रूल्स का हो पूरा ज्ञान

बाइक चलाने से पहले ट्रैफिक रूल्स के बारे में अच्छी तरह से जान लेना चाहिए। वैसे तो ट्रैफिक रूल्स सभी को पता होते हैं पर कुछ खास ट्रैफिक रूल्स जो गाड़ी चलाते समय ही काम आते हैं , जैसे अगर आपको दाहिने साइड मुड़ना है , तो दाहिने साइड का इंडिकेटर चालू कीजिए या दाहिने साइड अपना हाथ दिखाइए।

कभी भी ट्रैफिक रूल्स ना तोड़े इस बात का ध्यान हमेशा रखें।

5:- ध्यान एकाग्र रखें

आपने अपने बड़ों से यह स्लोगन सुना ही होगा ” ध्यान हटी दुर्घटना घटी।” दोस्तों यह स्लोगन जिसने भी बनाया है , बिल्कुल सही बनाया है। अगर बाइक चलाते वक्त आपका ध्यान भटक जाता है , तो आप चोटिल सकते हैं। इसलिए हमेशा एकाग्र मन से गाड़ी चलाएं।

6:- मोबाइल को रखें जेब में

हम अक्सर लोगों को बाइक चलाते हुए फोन में बात करते देखते हैं, जो कि बहुत ही गलत है। इससे एक्सीडेंट होने का खतरा बना रहता है , इसलिए बाइक चलाने से पहले आप अपना मोबाइल फोन अपने जेब में रख ले। अगर आपको लगता है , कि आपको बात करना है , तो आप साइड में अपनी गाड़ी खड़ी करके अपना मोबाइल यूज कर सकते हैं।

7:- अनुभवी व्यक्ति बाइक चलाना ( Bike Chalana Sikhe ) 

ऐसे व्यक्ति जिनका बाइक चलाने का पूरा ज्ञान है और जो आपको सही सुझाव दे सके , उन्ही से बाइक चलाना सीखे।

8:- खाली मैदान में सीखे बाइक चलाना

दोस्तों अगर आपको बाइक चलाना सीखना है , तो आप सीधे रोड पर सीखने के बजाय खाली मैदान पर या खाली रोड पर बाइक चलाना सीखे।

9:- नशा से दूर रहे

कभी भी गाड़ी चलाते समय शराब या किसी और तरीके का नशा ना करें। नशा करके गाड़ी चलाने से आप खुद को चोटिल कर सकते हैं , साथ ही साथ सामने वाले को भी चोटिल कर सकते हैं।

10:- बाइक के कंट्रोलिंग सिस्टम को समझें

बाइक चलाना सीखने से पहले बाइक के कंट्रोलिंग सिस्टम को अच्छी तरह से समझ लें | जैसे क्लच, एक्सीलरेटर, गेयर, हैंडब्रेक, फुट ब्रेक, न्यूट्रल आदि।

11:- पेट्रोल और एयर चेक कर ले

जब भी आप बाइक चलाएं , उससे पहले पेट्रोल और बाइक के चक्के की जांच अवश्य करें। अगर पेट्रोल कम है या बाइक के चक्के में हवा कम है , तो फिर आप की गाड़ी कहीं पर भी रुक सकती है।

12:- डेली प्रैक्टिस

जब आप किसी चीज को सीखने ( Bike Chalana Sikhe ) की कोशिश करते हैं और उस चीज का अगर बार-बार अभ्यास करते जाते हैं , तो आप उस चीज ( Bike Chalana Sikhe ) में निपुण हो जाते हैं। यही बात बाइक चलाने सीखने में भी लागू होती है। एक बार जब आप सारी कंट्रोलिंग सिस्टम को समझ जाते हैं और बाइक चलाना सीखना शुरू करते हैं , तो उसकी डेली प्रैक्टिस कीजिए | जब तक आप अच्छी तरह से बाइक ना चला ले , तब तक भीड़भाड़ वाले रोड पर बाइक चलाने की कोशिश ना करें।

13:- स्पीड की दौड़ खतरनाक

वैसे तो आजकल स्पीड का ही जमाना है। आज हम आपको स्पीड में अपनी बाइक चलाने से मना कर रहे हैं। जब भाई नया-नया सीख रहे हैं , तो कभी भी बाइक को स्पीड से ना चलाएं | इससे आप कंट्रोल खो सकते हैं और आपकी बाइक अनियंत्रित हो सकती हैं।

बाइक हमेशा इतनी ही स्पीड में चलाने चाहिए जिससे बाइक आपके कंट्रोल में रहे।

ऊपर दी हुई Bike Chalana Sikhe वाली बातों पर अमल करते हुए , हमारे इस आर्टिकल के साथ बाइक चलाना सीखना शुरू कीजिए।


Bike chalana sikhe Or Bike Kaise Chalaye 

1:- बाइक स्टार्ट करना:  बाइक स्टार्ट करने के लिए हमारे पास दो ऑप्शन होते हैं।

  1. किक से बाइक स्टार्ट करना।
  2. सेल्फ से बाइक स्टार्ट करना।

Bike chalana sikhe Or Bike Kaise Chalaye 

1:- Bike Kaise Start Kare : –

  • किक से बाइक स्टार्ट करना :- किक से बाइक स्टार्ट करने के लिए आपको हमेशा दाया पैर का प्रयोग करना होगा। क्योंकि बाइक में किक दाएं ओर लगी होती है। दायें हाथ से क्लच को खींच कर रखें और दाएं पैर से किक मारकर बाइक स्टार्ट करें।
  • सेल्फ बाइक स्टार्ट करना :-  सेल्फ से बाइक स्टार्ट करना बहुत ही आसान होता है। सबके लिए एक स्विच दिया होता है , जिसको क्लच के साथ दबाने से बाइक स्टार्ट हो जाती है।

नोट: जब भी बाइक स्टार्ट करें Or Bike Chalana Sikhe हमेशा ध्यान रखें , कि आपकी बाइक न्यूट्रल में हो। अगर बाइक गियर लगी होगी , तो बाइक स्टार्ट करते समय आप को झटका लग सकता है।

बाइक को ऑन करते ही आपको इस स्पीडोमीटर में N लेटर दिखेगा। अगर यह लेटर नहीं दिख रहा है या चालू नहीं हो रहा है , तो आप समझ जाइए , कि आपकी बाइक न्यूट्रल में नहीं है।

दूसरा तरीका भी है , जिसे आप जान सकते हैं , कि आपकी वाइफ न्यूट्रल में है या नहीं। जब आप गाड़ी में बैठते हैं , तो बाइक को खड़े करके आगे पीछे करने की कोशिश करें , अगर यह स्मूथली चल रहा है , तो यह न्यूट्रल में है।


2:- बाइक को गति देने के लिए गेयर का प्रयोग करना : बाइक में गियर सिस्टम बाएं पैर की ओर होता है। यहां पर ध्यान रखने वाली बात यह है , कि सभी बाइक्स की जड़ ( सिस्टम ) एक जैसे नहीं होते कुछ बाइक्स में 4 गियर होते हैं और कुछ बाइक्स में पांच गियर होते हैं।

एक बार जब आपकी बाइक चालू हो जाती है , तो क्लच को दबाकर फर्स्ट गियर लगाएं और एक्सीलेटर को धीरे धीरे बढ़ाते हुए दूसरे हाथ से क्लच को भी धीरे-धीरे छोड़ते जाएं।

ऐसा करने से आपकी गाड़ी गति पकड़ लेती है।

फिर से क्लच को दबाकर रखें और सेकंड गियर लगाएं। अब आपको एहसास होगा , कि आपकी बाइक फर्स्ट गियर के पिक्चर सेकंड ईयर में ज्यादा स्मूथली चल रही है। जैसे-जैसे आप स्पीड बढ़ा दे जाते हैं आपको गियर भी चेंज करना होता है और क्लच को हमेशा धीरे धीरे ही छोड़ें।

अगर आप क्लच को एकदम से छोड़ देते हैं , तो गाड़ी झटके से ऊपर उचक सकती है और आप बैलेंस खोकर नीचे गिर सकते हैं, जिससे गहरी चोट लगने की भी संभावना होती है।


3:- बाइक मोड़ते समय दिखाएं इंडिकेटर: सीधे रास्ते पर चलना बहुत आसान होता है पर जब बात आती है टर्निंग की , तो आप अपनी बाइक की स्पीड कम कर ले और जिस साइड टर्न करना है , उस साइड का इंडिकेटर ऑन करें।

इंडिकेटर ऑन करने से आपके पीछे और आपके आगे आने वाले लोगों को पता चलेगा , कि आप किस साइड जाना चाहते हैं। ऐसा करने से आप हमेशा सुरक्षित रहेंगे , एक्सीडेंट होने की संभावना कम हो जाती है।

नोट: इंडिकेटर का प्रयोग एकदम टर्निंग पॉइंट पर पहुंचते ही ना करें, बल्कि टर्निंग प्वाइंट के कुछ दूर पहले ही इंडिकेटर ऑन करें।

इंडिकेटर हमेशा सीधे हाथ की तरफ एक्सीलेटर के बाजू में दिया होता है। इंडिकेटेड यूज करने के लिए आप हमेशा अपना बताएं या अंगूठा यूज़ करें।

राइट साइड कॉल करने के लिए इंडिकेटर के स्विच को राइट साइड प्रेस करें | लेफ्ट साइड टोंट करने के लिए इंडिकेटर के स्विच को लेफ्ट साइड प्रेस करें।


4:- गाड़ी रोकने के लिए करें ब्रेक का प्रयोग: जब आप गाड़ी सीख रहे होते हैं , तो शुरुआत में अक्सर ऐसा होता है , कि हम गाड़ी रोकने के लिए दोनों पैर नीचे कर देते हैं। गाड़ी रोकने का यह तरीका बिल्कुल गलत है , ऐसा करने से हमारे पैर में मोच आ सकती है , इसके अलावा हमारा पैर टूट भी सकता है।

गाड़ी रोकने के लिए और गाड़ी की स्पीड कम करने के लिए हमेशा ब्रेक का प्रयोग करना चाहिए।

बाइक में दो ब्रेक होते हैं , एक हैंडल में उल्टे हाथ की तरफ लगा होता है , फ्रंट ब्रेक कहलाता है। जब आप फ्रंट ब्रेक दबाते हैं , तो सामने का चक्का रुक जाता है और दूसरा पैर में होता है , हमें हमेशा नीचे दिए हुए ब्रेक , जो कि पैरों से लगाए जाते हैं का यूज़ करना चाहिए।

अंत में हम इतना ही कहना चाहेंगे कि बाइक चलाने के साथ-साथ यदि आप अपनी बाइक का अच्छे से ख्याल रखेंगे समय-समय पर सर्विसिंग और ऑयल करवाते रहेंगे , तो आपकी बाइक की लाइफ बढ़ जाएगी, और वह हमेशा आपका साथ देगी।

हमेशा सुरक्षित रहिए और हमारे पोस्ट Bike Chalana Sikhe को लाइक करते रहिए।


अगर आपको हमारा पोस्ट Bike Chalana Sikhe पसंद आता है , तो आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करना ना भूले।

Check Out Our Other Website:- Paheliyan In Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here