बॉडी बनाने की आयुर्वेदिक दवा। Body banane ki ayurvedic dawa

0
289
Body Banane Ki Ayurvedic Dawa

Body banane ki ayurvedic dawa :- नमस्कार दोस्तों आज हम आपको आयुर्वेद की ऐसी दवाइयों का नाम बताएंगे जिनको लेने से आप अच्छी खासी बॉडी बना सकते हैं।

पर इसका मतलब यह कतई नहीं है , कि आप सिर्फ दवाई लेकर ही अच्छी बॉडी बना सकते हैं | इसके साथ-साथ आपको अपनी दिनचर्या का भी पूरा ध्यान रखना होगा।

आप अपने डेली रूटीन में एक्सरसाइज और हेल्दी डाइट के साथ-साथ आयुर्वेदिक दवाइयों को शामिल करें फिर देखिएगा दोस्तों यह सोने पर सुहागा का काम करेगा।

आजकल बहुत से लोग जिम में जाकर वर्कआउट करते हैं और बॉडी बनाने के लिए प्रोटीन पाउडर का यूज करते हैं।

इन प्रोटीन पाउडर को लेने से शरीर में अचानक से इंसुलिन का लेवल बिगड़ जाता है , जो कि हमारे शरीर के लिए काफी नुकसानदेह होता है।

यही नहीं प्रोटीन पाउडर लेने से पेट की समस्याएं, लीवर की समस्या, हार्मोनल इनबैलेंस, झुर्रियों का आना, मांसपेशियों में तनाव और दर्द, सर दर्द, बालों से संबंधित समस्याएं और कैंसर जैसे रोग भी हो सकते हैं। पर अगर आप इन प्रोटीन पाउडर के जगह पर आयुर्वेदिक दवाइयों का प्रयोग करते हैं , तो आपको इन सब समस्याओं से जूझना नहीं पड़ेगा।

प्रोटीन पाउडर लेने से आपको बहुत जल्दी रिजल्ट दिखता है, पर इसके साइड इफेक्ट भी बहुत जल्दी दिखने शुरू हो जाते हैं।

वहीं पर अगर आप आयुर्वेदिक दवा लेते हैं , तो आपको इसका रिजल्ट थोड़ी देर से मिलेगा पर आपको किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होगा।

दोस्तों दवाइयों के बारे में बताने से पहले हम आपको यह सुझाव देना चाहेंगे , कि आप हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें इससे आपको यह समझ में आ जाएगा , कि कौन सी दवाई कब लेनी है और कितनी मात्रा में लेनी है।


Body banane ki ayurvedic dawa

  1. अश्वगंधा
  2. अश्वगंधा अवलेह
  3. अश्वगंधा पाक
  4. शतावरी
  5. सफेद मूसली
  6. छुहारा पाक

Body banane ki ayurvedic dawa

1:- अश्वगंधा ( Body banane ki ayurvedic dawa ): अश्वगंधा को अमृत्तुल्य जड़ी-बूटी माना जाता है। यह  बहुत से रोगों का क्षय करती है। अश्वगंधा बलवर्धक है ,तनाव से मुक्ति दिलाने का काम करती है। इसे लेने से मेटाबॉलिज्म मैं सुधार होता जाता है। आजकल बहुत से युवा खिलाड़ी अश्वगंधा को का सेवन करते हैं।

अश्वगंधा का सेवन कैसे करें: आपको किसी भी आयुर्वेदिक शॉप में अश्वगंधा का पाउडर या टेबलेट आसानी से मिल जाएगा इसे गर्म दूध के साथ खाली पेट लेना सबसे सही माना जाता है। पर यदि आपको खाली पेट लेने से किसी प्रकार की परेशानी हो रही है , तो आप इसे खाना खाने के 1 घंटे के बाद गर्म पानी के साथ भी ले सकते हैं

मात्रा: अगर आप अश्वगंधा पाउडर ले रहे हैं , तो एक चम्मच सुबह और एक चम्मच शाम को ले। और यदि टेबलेट ले रहे हैं , तो एक टैबलेट खाली पेट सुबह और एक टेबलेट खाली पेट शाम को ले। गर्मियों में अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए |

Buy Agargandha From Amazon

2:- अश्वगंधा अवलेह ( Body banane ki ayurvedic dawa ): अब आप सभी को पता चल ही चुका है , कि अश्वगंधा आयुर्वेद की सबसे महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। पर यह हर किसी को सूट नहीं करती। जिन्हें सूट नहीं करती हैं , उन्हें अश्वगंधा अवलेह का सेवन करना चाहिए।

अश्वगंधा अवलेह के भी उतने ही फायदे हैं , जितने कि अश्वगंधा के हैं। सामान्य Language में हम बोले तो अश्वगंधा के जैम को अश्वगंधा अवलेह कहा जाता है।

अश्वगंधा अवलेह का सेवन और मात्रा : इसे एक-एक चम्मच सुबह और शाम खाली पेट लेना चाहिए। अगर आपके पास दूध नहीं है , तो भी ठीक है और अगर आपके पास दूध है , तो गुनगुने दूध के साथ इसका सेवन करें।


Read Also :-


3:- अश्वगंधा पाक( Body banane ki ayurvedic dawa ): यह अश्वगंधा अवलेह की भांति ही होता है। पर इसके मिश्रण और बनाने के तरीके थोड़े अलग अलग होते हैं। जितनी लाभ अश्वगंधा पाउडर या अश्वगंधा टेबलेट लेने से हमें मिलता है , उससे कहीं ज्यादा लाभ अश्वगंधा पाक के सेवन से प्राप्त होता है।

अश्वगंधा का सेवन और मात्रा: अश्वगंधा पाक आधा चम्मच सुबह और शाम हल्के गुनगुने मीठे दूध के साथ ही लेना चाहिए। इसके सेवन के आधे घंटे बाद कुछ भी खाना या पीना मना होता है।

4:- शतावरी ( Body banane ki ayurvedic dawa ): यह जड़ी-बूटी भी जड़ के रूप में पाई जाती है। यह गुच्छे में होती है , मूली के जैसे दिखती है। शतावरी को वजन बढ़ाने वाली दवाई के रूप में जाना जाता है। इसके साथ ही यह अनिद्रा, मूत्र रोग, योन रोग के उपचार के लिए भी उपयोग किया जाता है। शतावरी में विटामिन A , C , K , अमीनो एसिड, क्रोमियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। जो मांसपेशियों उसको के निर्माण और विकास में भी सहायक होता है।

शतावरी की मात्रा और सेवन विधि: शतावर चूर्ण को रात में लिया जाता है। एक पेन ने उसमें दूध डालें जब दूध हल्का गर्म हो जाए तो उसमें एक चम्मच शतावर चूर्ण को डालें। इसमें चमक चलाते रहे जब दूध गाढ़ा हो जाए तो गैस बंद कर दीजिए और रात में सोने से पहले इसे गुनगुना पी लीजिए। ऐसा करने से आपको नींद भी अच्छी आएगी और साथ ही साथ में आपके मसल्स डेवलपमेंट में हेल्प ही करेगा।

Buy Shatavari From Amazon 

5:- सफेद मूसली ( Body banane ki ayurvedic dawa ): सफेद मूसली एक तरह का जड़ होता है , जिसका प्रयोग दवाई के रूप में किया जाता है। सफेद मुसली में सपोनिन पाया जाता है , जो टेस्ट्रॉन को बढ़ाने में मदद करता है। सफेद मूसली का नियमित रूप से सेवन करने से थकान , कमजोरी , चिड़चिड़ापन , याददाश्त में दिक्कत आदि को दूर करने में मदद करता है।

ऐसे लोग जो फिजिकली बहुत ज्यादा कमजोर होते हैं , उन्हें सफेद मूसली लेने को कहा जाता है। सफेद मूसली का पाउडर या टैबलेट दोनों ही आयुर्वेदिक मेडिकल शॉप में आपको आसानी से मिल जाएगा। या आप इसे पतंजलि स्टोर से भी खरीद सकते हैं।

सफेद मूसली की मात्रा और सेवन की विधि: दोस्तों आजकल सफेद मूसली का पाउडर आसानी से उपलब्ध हो जाता है इससे आधा चम्मच दूध के साथ खाना खाने के बाद लेना चाहिए।

6:- छुहारा पाक ( Body banane ki ayurvedic dawa ): छुहारा पाक शारीरिक कमजोरी को दूर करने और वजन को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता। इसके सेवन से आपको एक माह में ही अपने शरीर में परिवर्तन दिखाई देने लगेगा।

छुहारा पाक का मेन इनग्रेडिएंट छुहारा होता है और इसके साथ साथ इसमें पिपली मिश्री गाय का दूध, गाय का घी, सफेद मूसली, मुनक्का लोंग, जायफल, तेजपत्ता, जावित्री, केसर, अभ्रक भस्म, पिस्ता, बादाम, चिरौंजी, अखरोट गिरी आदि मिलाकर छुहारा पाक बनाया जाता। छुहारा पार्क में इतनी सारी औषधियां मिलाई जाती , यह सब मिलकर आपके शरीर में ताकत और जोश को भर देती है।

जो दुबलेपन को खत्म करता है | सारी कमजोरी खत्म करता है | शरीर में ऊर्जा को बढ़ा देता है, इसके साथ ही सहनशक्ति और धीरज क्षमता को भी बढ़ाता है।

छुहारा पाक की मात्रा और सेवन विधि: दोस्तों छुहारा पाक एक चवनप्राश जैसे होता है | एक चम्मच छुहारा पाक को एक गिलास गर्म दूध के साथ लिया जाता है। रात में सोने से पहले इसका सेवन किया जाना चाहिए।

दोस्तों इंसान की सेहत किसी एक चीज पर डिपेंड नहीं होती है। हमारी सेहत पर इफेक्ट डालने के लिए बहुत से फैक्टर होते हैं इनमें से सबसे पहले नंबर पर आता है हमारा भोजन।

अगर आप सही समय पर अपना भोजन नहीं करते हैं उसमें पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल रहा है, तो आप कितनी भी कोशिश कर ले आप सेहत (बॉडी) नहीं बना पाएंगे।

दूसरे नंबर पर आता है , हमारा डाइजेशन सिस्टम:- कुछ लोग बहुत अच्छा भोजन लेते हैं | समय पर भोजन करते हैं फिर भी उन्हें खाना नहीं पचता इसके लिए भी आपको अधिक से अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए। पर खाना खाने से एक घंटा पहले और एक घंटा बाद पानी का सेवन नहीं करना चाहिए।



नोट:- इन सभी दवाइयों के सेवन से पहले एक बार आप अपने चिकित्सक से जरूर परामर्श ले ले , उसके बाद ही आप इन दवाइयों का सेवन करें।


दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल ( Body banane ki ayurvedic dawa )पसंद आया है , तो आप इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ सोशल मीडिया में जरूर शेयर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here