वचन किसे कहते है , वचन के प्रकार | Vachan Kise Kahate Hain

0
196
Vachan Kise Kahate Hain

Vachan Kise Kahate Hain : हिंदी व्याकरण में वचन का बहुत महत्व होता है। बाकी भाषाओं की तरह हिंदी में भी वचन का अच्छा खासा महत्व है। वचन में जरा सी गड़बड़ी होने से भी पूरा वाक्य अजीब सा लगने लगता है।

वैसे तो हमें बचपन से ही विद्यालय में वचन के बारे में अच्छी तरह से सिखाया जाता है, लेकिन तब भी कभी-कभी हम वचन में कंफ्यूज हो जाते हैं।

तो दोस्तों अगर आप भी वचन को लेकर कन्फ्यूज हैं, तो हमारे आज के इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए। आज के इस आर्टिकल में हम आपको Vachan Kise Kahate Hain ( वचन किसे कहते है ? ) तथा इसके प्रकार और इसका वाक्य में प्रयोग बताएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं।


वचन किसे कहते है | Vachan Kise Kahate Hain

व्याकरण में वचन संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया, और विशेषण इत्यादि की व्याकरण श्रेणी होती है, जो वाक्य में इनकी संख्या की सूचना प्रदान करती है। यही वचन कहलाते हैं।

सरल शब्दों में कहें तो वचन से हमें यह पता चलता है, कि किसी वाक्य में संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया, विशेषण, की क्या संख्या है। वचन के माध्यम से ही हम संख्या का अनुमान लगा सकते हैं।

अधिकतर भाषाओं में हमें दो वचन ही देखने को मिलते हैं। यह दो वचन होते हैं, एकवचन और बहुवचन।

किंतु संस्कृत जैसी भाषाओं में हमें तीन वचन देखने को मिलते हैं। संस्कृत भाषा में 3 वचन होते हैं, जो कि एकवचन, द्विवचन और बहुवचन कहलाते हैं।


हिंदी भाषा में वचन के प्रकार | Vachan Ke Prakar

हिंदी भाषा में वचन के दो ही प्रकार होते हैं:-

  • एकवचन
  • बहुवचन

एकवचन किसे कहते हैं ?

वाक्य में जिन शब्दों से हमें एक ही वस्तु या एक ही संख्या का बोध होता है, वह एकवचन कहलाते हैं।

एकवचन के उदाहरण हो सकते हैं :- माता, पिता, भाई, बहन लड़का, लड़की, रोटी, कपड़ा, मकान, कुत्ता, बिल्ली, सूरज, चांद, इत्यादि।

बहुवचन किसे कहते हैं ?

वाक्य में जिन शब्दों से हमें एक से ज्यादा या अनेक वस्तु या एक से ज्यादा संख्या का बोध होता है, वह बहुवचन कहलाते हैं।

बहुवचन के उदाहरण हो सकते हैं :- माताएं, भाइयों, बहनों, लड़के, लड़कियां, रोटियां, कपड़े, कुत्ते, बिल्लियां इत्यादि।



विभिन्न वचनों का हिंदी में प्रयोग :-

कभी-कभी हमें हिंदी भाषा में वचनों की अदला – बदली देखने को मिलती है। यह आज के समय की भाषा में काफी आम बात है।

हिंदी में कभी-कभी हमें एकवचन की जगह बहुवचन देखने को मिलती है। ऐसा वाक्य को आदर सहित दर्शाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर:-

  • भीमराव अंबेडकर बहुत महान पुरुष थे।
  • सर आज नहीं जाएंगे।
  • महात्मा गांधी सच्चे देशभक्त थे।

ऊपर दर्शाए गए – सभी वाक्यों में एकवचन की वजह बहुवचन का प्रयोग किया गया है। ऐसा इन वाक्यों में आदर्श तथा आदर की भावना जागृत करने के लिए किया गया है।

कई बार हिंदी में हमें ” वह ” की जगह ” वे ” का प्रयोग करने के लिए भी दिखता है। और वहीं दूसरी ओर ” मैं ” की जगह ” हम ” का प्रयोग किया जाता है। ऐसा वाक्य में बड़प्पन दर्शाने के लिए किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर:-

  • आज जब मंत्री जी आए तब वे बहुत खुश नजर आ रहे थे।
  • अध्यापक ने कक्षा में बच्चों से कहा, कि हम जा रहे हैं।

ऊपर दिखाए गए वाक्यों से हम समझ सकते हैं, कि किस प्रकार एकवचन की जगह बहुवचन का इस्तेमाल किया गया है।

इसके अलावा हिंदी भाषा में ऐसे कई सारे शब्द ( शब्द किसे कहते हैं ? )  है, जिनका प्रयोग अधिकतर बहुवचन में ही किया जाता है। जैसे कि केश, रोम, अश्रु, प्राण, दर्शक, समाचार, प्राण, लोग, होश, भाग्य इत्यादि ऐसे शब्द है, जिनका बहुवचन में ही प्रयोग किया जाता है।

जैसे कि:-

  • तुम्हारे केश कितने बड़े हैं!
  • लोग तो हर वक्त कुछ ना कुछ कहते ही रहते हैं।

इसके अलावा आजकल लोग ” तू ” शब्द की जगह ” तुम ” शब्द का प्रयोग करते हैं। ऐसा – झूठों के प्रति आदत दर्शाने के लिए किया जाता है। जैसे कि:-

  • तुम कितने बड़े हो गए हो!
  • तुम बहुत समझदार होते जा रहे हो।

For More Watch This:

Vachan Kise Kahate Hain


अन्तिम शब्द

तो दोस्तों, आज के आर्टिकल Vachan Kise Kahate Hain में हमने आपको वचन से संबंधित सभी जानकारी दे दी है। उम्मीद करते हैं, कि अब आपको समझ में आ गया होगा, कि Vachan Kise Kahate Hain ( वचन किसे कहते हैं ) और इसका किस प्रकार से आम तौर पर बोलचाल की भाषा ( bhasha kise kahate hain ) और बोली ( Boli Kise Kahate Hain ) में प्रयोग में लिया जा सकता है। आशा करते हैं, आपको आज का आर्टिकल पसंद आया होगा।

धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here