दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी कौन सी है ?

0
551
Dakshin Bharat Ki Sabse Unchi Choti

Dakshin Bharat Ki Sabse Unchi Choti : आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे, कि दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी कौन सी है ? अगर आप भी इस सवाल का जवाब पाना चाहते हैं, तो हमारा आगे का आर्टिकल पढ़ना जारी रखें। चलिए शुरू करते हैं।


दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी कौन सी है ? | Dakshin Bharat Ki Sabse Unchi Choti Kaun Si Hain 

दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी केरल की ” अनाईमुडी चोटी ” है, जिसकी लंबाई 2695 मीटर है। इसके साथ ही साथ यह पश्चिम घाट की सबसे ऊंची चोटी है। अनाईमुडी एक मलयाली शब्द है- जिसका हिंदी में अर्थ होता है ” हाथी का मस्तिष्क “।


महाराष्ट्र से शुरू होकर केरल पर ख़त्म होने वाली पश्चिमी घाट की पर्वत श्रृंखलाएं, दक्षिण भारत की सबसे ऊँची पर्वत श्रृंखलाएं ( Highest peak in south india) है।

यह इन ऊंची ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं का ही परिणाम स्वरुप है, कि केरल के मसाले सभी जगह पर प्रसिद्ध है। वैसे तो केरल में चाय की खेती भी की जाती है। लेकिन केरल मसालों की खेती के लिए ज्यादा प्रसिद्ध है।

दक्षिण भारत अपने वादियों के लिए पूरे भारत में जाना जाता है। दक्षिण भारत की जनसंख्या उत्तर भारत की जनसंख्या की तुलना में काफी कम है। यहां जनसंख्या कम होने का मुख्य कारण पठारी और पहाड़ी जमीन है। दक्कन का पठार तो पूरे विश्व में अत्यंत प्रसिद्ध है। यहां की भौगोलिक स्थिति काफी विविध है।

दक्षिण भारत में पूर्वी घाट के पहाड़ और पश्चिम घाट के पहाड़ बहुत ही सुंदर और मनोरम है। नीलगिरी के पहाड़, अन्नामलाई के पहाड़ के बिना दक्षिण भारत की सुंदरता का अनुमान लगाना असंभव है।

वैसे तो दक्षिण भारत में कई सारी पर्वत श्रृंखलाएं हैं। लेकिन आज हम इनमें से पांच सबसे ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं के बारे में विस्तार से जानेंगे।

दक्षिण भारत की 5 सबसे ऊंची पर्वत श्रृंखलाएं कुछ इस प्रकार है :-

  1. अनाईमुड़ी चोटी ( केरल )
  2. डोड्डाबेट्टा पीक ( तमिलनाडु )
  3. मुल्लयनगिरी चोटी ( कर्नाटक )
  4. अरमा कोंडा ( आन्ध्र प्रदेश )
  5. डोली गुट्टा ( तेलंगाना )


1. अनाईमुड़ी चोटी ( Anaimudi Peak) – 2,695 मीटर ( 8,842 फीट ) केरल :-

केरल की अनाईमुडी चोटी दक्षिण भारत की सबसे ऊंची पर्वत चोटी है। इसके साथ ही साथ यह पश्चिम घाट की सबसे ऊंची चोटी है। अनाईमुडी एक मलयाली शब्द है, जिसका हिंदी में अर्थ होता है हाथी का मस्तिष्क। अनामुड़ी पर्वत को दक्षिण भारत का एव्हरेस्ट भी कहा जाता है।

पर्वत कितनी ऊंचाई पर होने के कारण यहां का मौसम बहुत ही सुहावना होता है। यहां का तापमान ज्यादा गर्म नहीं होता है तथा यहां का पूरा पहाड़ हरा भरा है और पेड़ों से ढका हुआ है। इसकी ऊंचाई तकरीबन ,2695 मीटर ( 8,842 फीट ) है।

2. डोड्डाबेट्टा पीक ( Doddabetta Peak) – 2,637 मीटर ( 8,650 फीट ) तमिलनाडु :-

यह पर्वत तमिलनाडु के नीलगिरी शहर में स्थित है तथा नीलगिरी पर्वतों की पहाड़ियों में सबसे ऊंचा पर्वत है। यह तमिलनाडु की सबसे ऊंची चोटी है। इस पर्वत की ऊंचाई 2,637 मीटर है और इस पर्वत के ऊपर भारत सरकार द्वारा एक संरक्षित जंगल का क्षेत्र भी है।

यह चोटी ऊटी कोटागिरी रोड पर नीलगिरी डिस्ट्रिक्ट में स्थित है। इस पहाड़ी का नजारा लेने के लिए न केवल पूरे भारत से बल्कि विदेश के अलग-अलग हिस्सों से भी लोग आते हैं। इसकी ऊंचाई तकरीबन 2,637 मीटर (8,650 फीट)।

3. मुल्लयनगिरी चोटी ( Mullayanagiri peak ) – 1,930 मीटर ( 6,330 फीट ) कर्नाटक

मुल्लयनगरी चोटी कर्नाटक की सबसे ऊंची चोटी है। यह कर्नाटक के चिक्मंगलुरु में स्थित हैं। यह हिमालय और नीलगिरी के बीच की सबसे ऊंची चोटी है। यह चोटी चंद्र द्रोण हिल रेंज में स्थित है।

दूर-दूर से पर्यटक इस चोटी में घूमने के लिए आते हैं। यह जगह ट्रेकिंग के शौकीन लोगों के लिए बहुत ही बढ़िया स्थान है। साफ मौसम में मुल्ल्यनगिरि के सबसे ऊँचे बिंदु से अरब सागर दिखाई देता है तथा यहां से सूर्यास्त का नजारा मनमोहक होता है। इसकी ऊंचाई तकरीबन ,930 मीटर (6,330 फीट) है।

यह चोटी कर्नाटक के चिकमंगलूर शहर से 16 कि.मी. की दूरी पर मुल्लयनगिरि स्थित है।

4. अरमा कोंडा ( Arma konda ) – 1,680 मीटर ( 5,512 ft ) आन्ध्र प्रदेश

अर्मा कोंडा चोटी आंध्र प्रदेश के पूर्वी घात के पहाड़ों में से गोदावरी नदी के बेसिन पर मौजूद हैं। यह आंध्र प्रदेश की सबसे ऊंची चोटी है। अरमा कोंडा को सिताम्मा कोंड़ा के नाम से भी जाना जाता है। ये विशाखापत्तनम जिले में स्थित हैं। इसकी ऊंचाई तकरीबन 680 मीटर (5,512 Ft) है।

5. डोली गुट्टा ( Doli gutta) – 965 मीटर ( 3,166 फीट ) तेलंगाना

डोली गट्टा चोटी तेलंगाना और छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर मौजूद जयशंकर भूपाल्पल्ली जिले में स्थित है। यह चोटी तेलंगाना की सबसे ऊंची चोटी है। यह बहार घने जंगलों से घिरा हुआ है। जंगलों से घिरा हुआ होने के कारण यह पर्यटकों को पूरी तरह से मंत्रमुग्ध कर लेता है। इसकी ऊंचाई तकरीबन 965 मीटर  (3,166 फीट) है।

देखा जाए तो दक्षिण भारत में इनके अलावा और भी कई सारी ऊंची ऊंची चोटिया है। दक्षिण भारत की शीर्ष तीन चोटीयां तो केरल से ही हैं। वह भी पश्चिमी घाट के पर्वत से ही।

केरल के इडुक्की जिले की मन्नामाला चोटी भी काफी ऊंची मानी जाती है। जिसकी ऊंचाई तकरीबन 2,659 मीटर है। केरल के इडुक्की जिले की ही मीसापुलिमला चोटी भी काफी प्रसिद्ध है, जिसकी ऊंचाई तकरीबन 2,640 मीटर है।

यह भी पश्चिमी घाट के पर्वत श्रृंखला का हिस्सा है। यह छोटी दिखने में काफी सुंदर है तथा इसको भारत की सबसे सुंदर चोटियों में गिना जाता है।

Read Also :


For More Info Watch This:


अन्तिम शब्द

आज के इस लेख में हमने आपको दक्षिण भारत का सबसे ऊँचा पर्वत कौन सा हैं ? ( Dakshin Bharat Ki Sabse Unchi Choti ) के बारे में जानकारी दी है।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप विस्तार पूर्वक उन चोटियों के बारे में जान ही गए होंगे। दक्षिण भारत अपने खुशनुमा वादियों के कारण तो जाना ही जाता है, किंतु जब बात ट्रैकिंग की आती है, तो पर्यटक दक्षिण भारत में पूरा लुफ्त उठाते हैं।

आपको आर्टिकल में लिखी हुई सभी बातें समझ में आ गई होंगी और आपको आज का यह आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here