Green Tea कैसे बनाएं | Green Tea Recipe In Hindi

0
50
Green Tea Kaise Banaye

Green Tea कैसे बनाएं , आप जानना चाहते हैं ? अगर आपका उत्तर हां है , तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल को पढ़ रहे हैं। आज हम आपको Green Tea Kaise Banaye की 4 रेसिपी बताने वाले हैं।

ग्रीन टी रेसिपी के साथ-साथ हम आपको यह भी बताने वाले हैं , कि ग्रीन टी होता क्या है ? ग्रीन टी कितने प्रकार के होते हैं ?, ग्रीन टी पीने से आपको क्या क्या लाभ मिलेगा ?, अंत में यह भी बताएंगे , कि ग्रीन टी किस समय पर पीना चाहिए जिससे आपको ग्रीन टी पीने से किसी भी तरह का नुकसान ना हो।

ग्रीन टी सही मायने में चाय का सबसे सेहतमंद विकल्प है । ग्रीन टी में एंटी ऑक्सीडेंट और फायदेमंद पॉलिफिनॉल्स मौजूद रहता है, जो कि हमारे अंदर के आलस को भगाता है और हमें ताजगी से भर देता है। पूरे विश्व में अधिकांश लोग ग्रीन टी के दीवाने हो गए हैं , इसलिए सबसे पहले हम आपको बताने जा रहे हैं , कि ग्रीन टी क्या है ?


ग्रीन टी क्या है?

यह चाय का ही एक प्रकार है पर इसे कैमेलिया साइनेन्सिस पौधों की पत्तियों से बनाया जाता है। इसकी खोज चीन ने की थी।


ग्रीन टी कितने प्रकार के होते हैं ?

बाजार के अनुसार ग्रीन टी विभिन्न प्रकार के होते हैं :- चाय की पत्तियों के रूप में , पाउडर के रूप में , चाय के बैग के रूप में |


दोस्तों हम यहां पर आपको किसी भी ब्रांड का नाम नहीं बता रहे हैं। वैसे तो ग्रीन टी का चलन लगातार बढ़ते ही जा रहा है इसलिए ग्रीन टी लोकल बाजार और ऑनलाइन मार्केट में आसानी से उपलब्ध हैं।

Green Tea Kaise Banaye ?

दोस्तों ग्रीन टी बनाना बहुत ही आसान है , इसके लिए कोई विशेष सामग्री और ज्यादा समय की आवश्यकता भी नहीं होती है। तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं , ग्रीन टी बनाना :-

एक नजर:-

पेय- वेज

समय- 5 मिनट

कितने लोगों के लिए- 1

ग्रीन टी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री OR Ingredients For Green Tea :-

1:- पानी-1 कप |

2 :- शहद-एक छोटा चम्मच

OR

नींबू का रस -8 से 10 बूंद

OR

अदरक – आधा इंच

3 :- ग्रीन टी- 1/2 चम्मच / एक बैग।

Green Tea Banane Ki Vidhi 1:- 

Step 1:- एक पैन ले उसमें एक कप पानी डालें।

Step 2:- अब पैन को गर्म करने के लिए गैस या स्टोव पर रखें।

Step 3:- पैन में रखा हुआ पानी अच्छे से गर्म हो जाए तो उसमें ग्रीन टी की पत्तियां डालें।

Step 4:- 2 से 3 मिनट के बाद आप देखेंगे , कि पानी का रंग बदलकर हरा हो गया है।

Step 5 :- अब आप एक कप में अपनी चाय को छान लें। चाय को जान लेने के बाद आप स्पेशल शहद मिलाएं और अच्छी तरह से मिक्स करें।

तो लीजिए आपका गरमा गरम साधारण ग्रीन टी बनकर तैयार है।

Green Tea Kaise Banaye Recipe 2 :-

( सामग्री: ऊपर लिखे हुए सामग्री में अदरक को छोड़कर बाकी सभी सामान लिया जाएगा। )

Step 1:- एक पैन में एक कप पानी लेकर अच्छे से गर्म करें।

Step 2:- ग्रीन टी के पत्ते डालें। जब ग्रीन टी के पत्ते पेन के तले में बैठ जाएं तो उन्हें कब में छान ले।

Step 3:- अब उसमें नींबू का रस और शहद मिलाएं और तुरंत पी जाएं।

Note :- ध्यान रखें ग्रीन टी में नींबू मिलाने के बाद आपको ग्रीन टी तुरंत ही पीना होगा, नहीं तो ग्रीन टी के सारे गुण खत्म हो जाएंगे |

Ginger Green Tea Recipe 3:-

( सामग्री: ऊपर लिखे हुए सामग्री में नींबू को छोड़कर बाकी सभी सामान लिया | )

Step 1:- एक पैन में एक कप पानी लेकर अच्छे से गर्म करें।

Step 2 :- ग्रीन टी के पत्ते और बारीक कटा हुआ अदरक डालें।

Step 3:- दोनों को अच्छे से उबलने दे।

Step 4:- अब एक कप में अपनी चाय को छानकर निकाल लें। एक छोटा चम्मच शहद अच्छे से मिक्स करें।

लीजिए आपकी गरमा गरम जिंजर ग्रीन टी बनकर तैयार है। सर्दी , खांसी , जुकाम होने पर जिंजर ग्रीन टी पीना चाहिए।

टी बैग से ग्रीन टी बनाने की विधि 4 | Green Tea Kaise Banaye Recipe 4 :- 

समय की कमी के कारण लोगों को हर चीजें बहुत जल्दी-जल्दी चाहिए होती है | हम किसी भी चीज में समय गंवाना नहीं चाहते हैं। इस बात को ध्यान रखते हुए ग्रीन टी बनाने वाली कंपनियों ने टी बैग का निर्माण किया है। जिसकी सहायता से हम कम समय में ग्रीन टी बना कर पी सकते हैं।

विधि :-

Step 1:- एक कप गर्म पानी ले।

Step 2 :- ग्रीन टी के बैग को उस कप में 1 या 2 मिनट के लिए रख दे।

Step 3 :- जब गर्म पानी का रंग बदल जाता है , तो उस बैग को निकालकर अपने कप में एक छोटा चम्मच शहद मिलाएं। अपनी ग्रीन टी एंजॉय करें।

क्यों दोस्तों ग्रीन टी बनाने की सारी विधियां है ना बहुत ही आसान।

ग्रीन टी किस समय पर पियें :-

ग्रीन टी के फायदे आने के लिए यह बात जानना बहुत जरूरी है , कि ग्रीन टी को किस समय पर और कितनी मात्रा में लिया जाए। इस संदर्भ में हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं जिन्हें आप ध्यान से पढ़े।

  1. कभी भी खाली पेट ग्रीन टी नही पिए।
  2. ग्रीन टी में दूध और चीनी मिलाने से परहेज करें।
  3. खाना खाने के 1 घंटे पहले और 1 घंटे बाद ही ग्रीन टी ले।
  4. खाना खाकर ग्रीन टी पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
  5. 1 दिन में दो या 3 कब से ज्यादा ग्रीन टी का उपभोग ना करें।
  6. ग्रीन टी को हमेशा शहद के साथ में ही ले।

अपने दिन को अच्छा बनाने और अपने स्वास्थ्य को सेहतमंद रखने के लिए ग्रीन टी पीना साधारण चाय या कॉफी पीने से ज्यादा अच्छा है।


Green Tea Ke Fayde :-

जब बात आए फिटनेस और स्वास्थ्य की तो ग्रीन टी के फायदों को नकारा नहीं जा सकता है। ग्रीन टी के स्वास्थ्य फायदों की वजह से विश्व भर में इसका चलन तेजी से बढ़ रहा है। ग्रीन टी पर बहुत से अध्ययन भी किए गए हैं , जिससे इस के औषधि गुण के बारे में पता चला है। तो चलिए दोस्तों देखते हैं , ग्रीन टी पीने से हमें क्या-क्या फायदे होते हैं :-

ग्रीन टी और दिमाग:- ग्रीन टी में बायोएक्टिव यौगिक पाए जाते हैं। जो न्यूरॉन्स पर पॉजिटिव इफेक्ट डालते हैं | जिससे अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसी बीमारियों की वजह से होने वाली क्षति कम किया जा सकता है।

तो अपने दिमाग को बढ़ाने और सुचारू रूप से कार्य करने के लिए रोज एक या दो कप ग्रीन टी पिएं।

ग्रीन टी और हेयर:- आजकल बढ़ते प्रदूषण और टेंशन के कारण से बहुत कम उम्र से ही हेयर प्रॉब्लम आ रहे हैं। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं , जो कि हेयर प्रॉब्लम हो बहुत हद तक खत्म करने में सहायक होते हैं।

ग्रीन टी और दांत:- एक अध्ययन के अनुसार जो लोग रोज ग्रीन टी पीते हैं , उन्हें दांतों की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है।

ग्रीन टी और वेट लॉस:- यह तो हम सभी को पता है , कि ग्रीन टी के रेगुलर उपयोग करने से हमारे शरीर में जमा चर्बी कम होती है। ग्रीन टी चयापचय को बढ़ाने में मदद करती है। यह चयापचय क्रिया हमारे वजन को कम करता है।

ग्रीन टी और ब्लड शुगर:- ग्रीन टी खून में मौजूद शर्करा के स्तर को स्थिर बनाने का काम करती। ग्रीन टी में मौजूद पॉलिफिनॉल्स टाइप वन डायबिटीज और टाइप टू डायबिटीज दोनों के लिए उपयोगी है।

ग्रीन टी और कोलेस्ट्रोल:- ग्रीन टी पीने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का खतरा कम होता जाता है। ग्रीन टी धमनियों को भी साफ करने का काम करती है , जिससे हार्ट अटैक आने की संभावना कम हो जाती है।

ग्रीन टी और हाई बीपी:- हाई बी.पी के मरीजों को ऐसी दवाइयां दी जाती है , जो ACE को नियंत्रित करें पर ग्रीन टी में प्राकृतिक रूप से ACE ( Angiotensin-converting enzyme) को रोकने का गुण पाया जाता है।

ग्रीन टी और कैंसर:- शोधकर्ताओं के अनुसार ग्रीन टी में पॉलीफेनॉल की मात्रा प्राकृतिक रूप से पाई जाती है , जो कैंसर के कोशिकाओं को खत्म करने में सहायक होती हैं।

हमने आपको ग्रीन टी के फायदे के बारे में बताया है |


हम उम्मीद करते हैं , कि आपको हमारा यह आर्टिकल Green Tea कैसे बनाएं जरूर पसंद आया होगा। आप अपने फ्रेंड और परिवार वालों के साथ इस आर्टिकल को जरुर शेयर करें | जिससे आपके सभी फ्रेंड्स और परिवार वालों को ग्रीन टी बनाने में सहायता मिलेगी।

दोस्तों हमें कमेंट कर के यह भी बताइए , कि Green Tea Kaise Banaye का कौन सा तरीका आपको सबसे अच्छा लगा | आपसे फिर मुलाकात होगी अगले आर्टिकल में तब तक ग्रीन टी पीजिए और स्वस्थ रहिए।

धन्यवाद्।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here