Surah Al Muzzammil Hindi Me Full Text | सूरह मुज़ ज़ममिल हिंदी में

0
143

यहाँ मैंने Surah Al Muzzammil को हिंदी में लिखा है , इसमें कूल 17 आयते है, जिसे आप आसानी से पढ़ सकते है और समझ सकते है।


Surah Al Muzzammil Hindi | सूरह मुज़ ज़ममिल हिंदी में

Surah Al Muzzammil Hindi

  1. या अय्युहल मुज़ ज़ममिल

ए चादर ओढ़ने वाले !

  1. क़ुमिल लैला इल्ला क़लीला

कुछ हिस्से को छिड़ कर रात में नमाज पढ़ा कजिये।

  1. इन्ना सनुल्की अलैका कौलन सक़ीला

अनक़रीब हम आप पर एक भारी फरमान उतारेंगे।

  1. इन्ना सनुल्की अलैका कौलन सक़ीला।

यकीनन रात के वक्त उठना ही ऐसा अमल है जिस से नफ़्स को अच्छी तरह कुचला जा सकता हो। और बात भी बेहतर तरीके से कही जाती है।

  1. वज कुरिस्मा रब्बिका तबत तल इलैहि तब्तीला।

और अपने परवर दिगार का नाम लेते रहिये और सब से बे ताल्लुक होकर उसी की तरफ मुतवज्जह हो जाइए।



  1. रब्बुल मशरिकि वल मगरिबि ला इलाहा इल्ला हुवा फत तखिज्हू वकीला

वही मशरिक व मगरिब का मालिक है, उसके सिवा कोई माबूद नहीं इसलिए आप इसी को कारसाज बनाइए।

  1. इन्ना लदैना अन्कालव वजहीमा

यकीनन हमारे पास सख्त बेडीया है, दहकती हुई आग है।

  1. तआमन ज़ा गुस्सतिव अज़ाबन अलीमा

और गले में अटक जाने वाला खाना और दर्दनाक अजाब भी।

  1. यौमा तरजुफुल अरजु वल जिबालु कानतिल जिबालु कसीबम महीला

उस दिन जमीन और आसमान कांपने लगेंगे और पहाड़ रेत के टीले हो जाएंगे।

  1. फ़असा फ़िरऔनुर रसूला फ़अख्ज्नाहू अख्ज़व वबीला

फिर फिर औन ने पैगम्बर का कहा न माना हम ने उसे सख्ती से पकड़ की।

  1. फ़कैफ़ा तत तकूना इन कफरतुम यौमय यजअलुल विल्दाना शीबा

तो अगर तुम कुफ्र करते रहोगे तो उस दिन से कैसे बचोगे जो बच्चो को बूढा कर देगा

  1. अस समाउ मुन्फतिरुम बिह कान वअदुहू मफ़ऊला

उस दिन आसमान फट जाएगा और उसका वादा पूरा होकर रहेगा

  1. इन्ना हाज़िही तज्किरह फ़मन शाअत तखज़ा इला रब्बिही सबीला

ये तो एक नसीहत है, तो जो चाहे आपने परवरदिगार की तरफ रास्ता बना ले  !



  1. इन्ना हाज़िही तज्किरह, फ़मन शाअत तखज़ा इला रब्बिही सबीला

अनुवाद: निश्चय ही यह एक अनुस्मृति (नसीहत)  है। अब जो चाहे अपने रब की ओर मार्ग ग्रहण कर ले। अपने रब की तरफ रास्ता बना ले

  1. इन्ना रब्बका यअलमु अन्नका तकूमु अदना मिन सुलुसयिल लैलि निस्फहू सुलुसहू ताइफतुम मिनल लज़ीना मअक, वल्लाहु युक़द्दिरुल लैला वन नहार अलिमा अल लन तुह्सूहू फताबा अलैकुम फकरऊ मा तयस सरा मिनल कुरआन, अलिमा अन सयकूनु मिन्कुम मरज़ा आखरूना यज़रिबूना फ़िल अरज़ि यब्तगूना मिन फजलिल लाहि, आख़रूना युक़ातिलूना फ़ी सबीलिल लाहि, फकरऊ मा तयस सरा मिनहु, अक़ीमुस सलाता आतुज़ ज़काता अकरिज़ुल लाहा करज़न हसना वमा तुक़ददिमू लि अन्फुसिकुम मिन खैरिन तजिदूहू इन्दल लाहि हुवा खैरव अज़मा अजरा, वस ताग्फिरुल लाह इन्नल लाहा गफूरुर रहीम

अनुवाद: निस्संदेह तुम्हारा रब जानता है कि तुम लगभग दो तिहाई रात, आधी रात और एक तिहाई रात तक (नमाज़ में) खड़े रहते हो, और एक गिरोह उन लोगों में से भी जो तुम्हारे साथ है, खड़ा होता है।

और अल्लाह रात और दिन की घट-बढ़ नियत करता है। उसे मालूम है कि तुम सब उसका निर्वाह न कर सकोगे, अतः उसने तुमपर दया-दृष्टि की। अब जितना क़ुरआन आसानी से हो सके पढ़ लिया करो।

  1. फकरऊ मा तयस सरा मिनहु अक़ीमुस सलाता आतुज़ ज़काता अकरिजुल लाहा करजन हसना

इसलिए जितना आसान हो सके , पढ़ लो , नमाज की पाबंदी करो , जकात देते रहो , अल्लाह को अच्छी तरह कर्ज दो !

  1. वमा तुक़ददिमू लि अन्फुसिकुम मिन खैरिन तजिदूहू इन्दल लाहि हुवा खैरव अज़मा अजरा वस ताग्फिरुल लाह इन्नल लाहा गफूरुर रहीम

और तुम अपने लीये जो नेक अमल आगे भेजोगे, उसको अल्लाह के पास ज्यादाबेहतर और ज्यादा सवाब वाल पाओगे, और अल्लाह से मग़फ़िरत तलब करते रहो , यकीनन अल्लाह बड़े बख्शने वाले और बड़े मेहरबान है।



For More Info Watch This: Surah Al Muzzammil Hindi


ये पोस्ट सुरह मुज़म्मिल ( Surah Al Muzzammil Hindi ), मुख्य रूप से उन लोगो के लिए की गयी है, जो भाई Arabic Text में कुरान नहीं पढ़ पाते है, या उनको पढ़ने में दिक्कत होती है, जिससे वो लोग भी कुरान की कुछ खाश शर्तो को पढ़ने का अज़र और सवाब हासिल कर सके।

अगर आपको ये पोस्ट ( Surah Al Muzzammil ) अच्छी लगी हो, तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Check Out Our Other Website :- Paheliyan In Hindi

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here